FmD4FRX3FmXvDZXvGZT3FRFgNBP1w326w3z1NBMhNV5=

Footer Link

items

He Fuck Me Seeing Me Alone At Home


English हिंदी

Friend Fuck Me When I Was Alone At Home

Friends, it was a year ago .. My younger brother was about to start the examination after 2 days and his first paper was of maths .. But his glasses had increased .. So my mother took him to the doctor. Had gone My brother and his friend Vipin were together to study. Vipin's coaching had a math test the very next day and that was before the school exam and my brother was very good in mathematics. Vipin was a tapori boy .. He was very naughty, fun-loving, ill-educated and very bad in studies and he lived in a small kholi in our area. My brother was going to teach mathematics at our house today .. So he came to our house .. But my brother did not tell Vipin that he is going to go to the doctor today. So Vipin came to our house in the afternoon and I was absolutely alone at that time. So I told him that my brother has gone to the doctor and he did not tell you earlier that he will not meet at home today? So he started saying that no he did not tell me anything and then he said that can he take my brother's math book? So I told him that you should stop here and study and maybe my brother might come in an hour. So he came in and sat on the couch and he asked me to drink water and I brought him water from the kitchen and I went inside to bring him my brother's math book. Then when I came out, he was reading my book (which I was reading before he came and kept it on the couch). There was an article on love in that book and there were also photos. Then I snatched the book from him and a lot of data .. But he was laughing like Besharmo and then he told me sorry and sat down with the book and always had a smile of full Besharmo on his mouth. Then he was laughing at me again and again as if he had come to know my secret. So I got up from there and went to my room and started reading my book again. Then after some time I felt that if he took some things from the meeting room? And so I went out again .. So he was studying lying on the couch and I was shocked to see how this boy could be so witty? Then I did not ask him to get up and went straight to sit with him on the couch .. thinking that maybe he would get up on seeing me .. but he just removed his leg and let me sit and all his attention was in his book. So I got busy with my mobile and while looking at the same type of messages, I looked at him and he was staring at me and he was also late and his eyes were not on my face. Then I looked at him carefully, he was looking at my boob's street and I remembered that before Vipin's arrival I had removed my bra and was reading the article and was stroking my nipple and in Vipin's sudden I forgot to wear my bra when I came from At one time, the T-shirt was also very tight and now my nipples were also seen in very clean T-shirt and then I covered my nipple part from the book. Then I did not say anything to Vipin .. because I could not speak anything to him. My brother's friend was watching my boobs now, I felt very strange .. For me, my brother is like a child and I used to feel like his friend even if he is older. There is a difference of 4 years between us and I had never looked at those younger than me. Then I became very calm and I looked at Vipin again while reading .. He too looked towards me and both of us were staring into each other's eyes without saying anything. He too was looking at me without fear in my eyes, and my beating became very fast and I felt this feeling familiar. So I removed my eyes from him and I started looking in the book. Then I looked at Vipin again, then he was looking at my body completely and he looked at me with his intoxicating eyes. Then I saw the size of his erect cocks in his paint and water started coming out of my hot pussy by itself and now I know what I was feeling? Then quickly got up and went towards her room and Vipin also got up and sat down and started watching me very carefully while going to my room. Then while entering inside the room, I looked at her while sitting on the couch and we kept staring at each other for 5 seconds and went inside and then I closed the door. Then I took off my clothes and threw them and started caressing myself. I started to put finger in my pussy .. but it was very wrong and I was feeling hot because of that boy .. I was completely hot. My pussy was now asking me for a cock and I had no control over myself. He was in another room and was trying to cool down by caressing her pussy while naked in her room. Then I saw from the bottom of the door that someone is standing outside the door and I understood that it is Vipin. So I lay down on the floor and started caressing myself and Vipin was also bending over the floor and looking inside from under the door. In front of her, I was lying down on the ground showing her pussy. Then the door bell rang quickly and I went out wearing clothes, and I saw that his book was lying on the couch in the hall .. But Vipin was not there. Then once again the door bell rang and I opened the door, the watchman was there and he came to pay the bill of light. Then I took the bill from her and quickly closed the door and started looking for Vipin and then I found an underwear lying on the ground in the hall and I picked up my underwear and started searching for her. When I saw him in the bathroom, he was not even there and then when I went to my brother's bedroom, he stood there silently towards the window. Then I asked him, what are you doing here? So he did not say anything and then after staring at me for a while, he said that I was very scared that someone has come, so I came here and hid. Then I asked him if this is your underwear? So he said yes. Then I asked him why it was taken out? So he again staring with intoxicating eyes said that this is how. So I asked him, why was it straight away? But he did not say anything. So I said that you will not tell me .. I will not give you your underwear till then. Then I took her underwear and went into the hall and sat on the couch. So I came to know that he might have been naked before and when bell rang, he must have rushed into the room with clothes in a hurry .. But I wanted to know what he was going to do naked. And he did not leave the room for very long. So when I went to see my brother's room again, he was sitting naked on the bed and shaking his cock. Then she saw me, there was no fear in her eyes .. She had no fear or shame at the point of moving naked in front of her friend's elder sister in someone else's house .. rather she gave me her intoxicating eyes. Kept staring staring at His cock was very big .. about 6 inches long and 2 inches thick and he stood absolutely tan .. maybe he was saluting my pussy. I felt different from seeing the boy's erect cocks younger than me and was shocked to see such beautiful cocks .. But did not say anything because I was older. I even wanted to pretend to scold her .. but could not speak anything and went quietly into the hall and pretended to read the book. Then I could not understand what to do. And now my pussy was wet and I was still wondering if all this was happening wrong? And that boy is younger than me. Then Vipin came in the same way towards me naked and stood in front of me and started shaking his cock vigorously. So I wanted to drive him away from there or pretend to run away .. But that was not going to happen to me either. Then my pussy was also thirsty for cocks and my mouth was also dried for cocks and for cocks, electricity was running all over my body .. I kept looking at the book itself. Then Vipin snatched the book from my hand and threw it and looked at me. Then I looked at him, then he pointed at me and kissed his cock loudly and kept looking at his cock for 1 minute and kept staring .. I had to read the break on his cock now .. but he was my brother's friend And he could also blackmail my brother and blackmail me too .. So I was still doing nothing .. But my whole body was speaking something else and the mind was a bit more .. So I slowed down Said in the voice that now stop too man. So he told me that he was sitting silent in lo na .. and he brought the cock closer to my mouth and I started to smell his cock .. I was bent and had a hand on the forehead and his cock was only slightly from my lips. Was only at a distance and if he came even a little further, my lips would touch his cock. I looked back at the cocks and looked at them .. So he came near me and started lying on the couch and moving his cocks. We were looking into each other's eyes and he started shaking cocks loudly. Then finally his semen fell and a lot of his semen came out and I was looking at his cock. He remained like this for two minutes and then went to the bathroom and washed the cocks and came out and he came near me and was sitting naked tired. I asked him what was it? So he said that seeing you was excited. He was shaking with his big cock in front of me .. Then spilled the semen and now I am sitting naked talking to me without any shame. So we remained calm for a while. Then he laid the head in my dock while lying on the couch .. But I kept quiet and he started touching my nipple again with his finger and I felt very good doing that .. I just kept quiet. Then he kept doing this for some time and when he did not say anything, he slowly started pressing my boobs. Now when I was completely calm, he started cutting the nipple directly from the top of the t-shirt and he was pulling the nipple from the teeth on top of the T-shirt .. But my body was calm. I was not thinking about anything .. just what was happening was letting it happen. Then he slightly up my T-shirt from below and started kissing, biting and caressing my bare boobs. Then he took off the T-shirt from me and he was doing all this by keeping the head on my lap .. I was also licking my navel. Siski came out of my mouth when he put tongue in my navel. Then he got up and started licking my pussy on top of my jeans .. He took off my jeans and also started panty and started licking pussy. Then he kept on licking pussy and kept looking at my pussy for a long time .. as if he had seen pussy for the first time. Then I also started to support her and when she put tongue in my pussy, I wrapped my feet around her head and started crying loudly ahhhh uhfh. Then he lied to me and even lay down on me and started kissing .. Then he stood on his knees and made me sit. We were looking into each other's eyes and he started touching his cock on my lips and started rubbing. Then I opened my mouth and took his cock completely and sucked for a long time .. He started filling very sexy sighs while sucking and I was enjoying listening to his sighs .. He sighs while sighing my mouth. felt. Then suddenly I started kissing me by taking the cocks out of my mouth and lying down and spread my legs and started putting my cock in my pussy .. But while putting it, there was a little pain. So I told him to spit on the cocks a little .. Then he did the same and lying between my legs and started fucking me. He used to kiss me while fucking. Then after 5 minutes he dropped the semen inside my pussy and he remained on me like that .. but my fuck was not complete yet. Then he kissed me for a while and sat down .. I lay down and watched him. He came back towards me and started sucking my nipple and kept playing with the boobs for 5 minutes .. We got up and sat with each other. Then I asked him how he learned all this? So he told that he also had sex once with his coaching teacher. Her coaching teacher is the mother of two children and she is over 40 years old. Then I asked him, do you not get scared while going naked in front of someone like that? So he said that he was very excited about sex at that time. Then after that day we have had sex about 10 times .. Now he was getting better in fuck .. He gets fuck for 2-20 times for about 15-20 minutes and he is always able to cum in different styles. Lots of fun. I never call him myself. He reaches home directly with some excuse and if the house is empty, he has sex at home or on the terrace, on the stairs, even during the school paper days, he fucking me a lot. is ..

घर में एकेले देख कर दोस्त ने चोदा

दोस्तों यह एक साल पहले की बात है.. मेरे छोटे भाई के 2 दिन के बाद परीक्षा शुरू होने वाली थी और उसका पहला पेपर गणित का था.. लेकिन उसके चश्मे का नंबर बढ़ गया था.. इसलिए मेरी माँ उसे डॉक्टर के पास ले गयी थी. मेरा भाई और उसका दोस्त विपिन मिलकर पढ़ाई करने वाले थे. विपिन की कोचिंग में दूसरे ही दिन गणित का टेस्ट था और वो स्कूल के एग्जाम के पहले था और मेरा भाई गणित में बहुत अच्छा था. विपिन एक टपोरी लड़का था.. वो बहुत शरारती, मस्तीखोर, बत्तमीज और पढ़ाई में बहुत खराब था और वो हम लोगों के इलाके में एक छोटी सी खोली में रहता था. उसे मेरा भाई हमारे घर पर आज गणित सिखाने वाला था.. इसलिए वो हमारे घर आया.. लेकिन मेरे भाई ने विपिन को नहीं बताया था कि वो आज डॉक्टर के पास जाने वाला है. तो विपिन दोपहर को ही हमारे घर पर आ गया और में उस समय घर पर बिल्कुल अकेली थी. तो मैंने उसे बताया कि मेरा भाई डॉक्टर के पास गया है और क्या तुम्हे उसने पहले नहीं बताया था कि वो आज घर पर नहीं मिलेगा? तो वो कहने लगा कि नहीं उसने मुझे कुछ भी नहीं बताया और फिर उसने कहा कि क्या वो मेरे भाई की गणित की किताब लेकर जा सकता है? तो मैंने उससे कहा कि तुम इधर ही रुक कर पढ़ाई कर लो और शायद हो सकता है कि मेरा भाई भी एक घंटे में आ जाए. तो वो अंदर आ गया और सोफे पर बैठ गया और उसने मुझसे पीने को पानी माँगा और मैंने उसे किचन से पानी लाकर दिया और में उसे अपने भाई की गणित की किताब लाने के लिए अंदर चली गयी. फिर जब में बाहर आई तो वो मेरी किताब ( जो में उसके आने के पहले पढ़ रही थी और वो सोफे पर ही रखी थी ) पढ़ रहा था. उस किताब में प्यार पर आर्टिकल था और फोटो भी थे. तभी मैंने उससे किताब छीन ली और बहुत डाटा.. लेकिन वो बेशार्मो की तरह हंस रहा था और फिर उसने मुझसे सॉरी कहा और किताब लेकर बैठ गया और हमेशा उसके मुहं पर पूरे टाईम बेशार्मो वाली स्माईल रहती थी. फिर वो मुझे बार बार देखकर हंस रहा था जैसे उसे मेरा सीक्रेट पता चल गया है. तो में वहाँ से उठकर अपने रूम में चली गयी और फिर से अपनी किताब पढ़ने लगी. तभी कुछ देर बाद मुझे ऐसा लगा कि अगर उसने बैठक रूम में से कुछ सामान उठा लिया तो? और इसलिए में फिर से बाहर गयी.. तो वो सोफे पर लेटकर पढ़ रहा था और में उसे देखकर चौंक गयी कि यह लड़का इतना बत्तमीज कैसे हो सकता है? फिर मैंने उसे उठने को नहीं कहा और सीधा सोफे पर उसके पास बैठने चली गयी.. यह सोचकर कि शायद वो मुझे देखकर उठेगा.. लेकिन उसने बस अपना पैर हटाया और मुझे बैठने दिया और उसका पूरा ध्यान अपनी किताब में ही था. तो में भी अपने मोबाईल में व्यस्त हो गयी और ऐसे ही मैसेज टाईप करते करते मैंने उसकी तरफ देखा तो वो मुझे घूर रहा था और वो भी बहुत देर से और उसकी नज़र मेरे चेहरे पर नहीं थी. फिर मैंने उसे ध्यान से देखा तो वो मेरे बूब्स की गली की तरफ देख रहा था और मुझे याद आया कि विपिन के आने से पहले मैंने अपनी ब्रा को निकाल दिया था और में आर्टिकल पढ़ते पढ़ते अपनी निप्पल को सहला रही थी और में विपिन के अचानक से आने पर अपनी ब्रा को पहनना भूल ही गयी. एक तो में टी-शर्ट भी बहुत टाईट पहनी हुई थी और अब मेरे निप्पल भी बहुत साफ साफ टी-शर्ट में से दिख रहे थे और फिर मैंने किताब से अपनी निप्पल वाला भाग ढक लिया. फिर मैंने विपिन से कुछ भी नहीं कहा.. क्योंकि में उससे कुछ बोल ही नहीं पाई. मेरे भाई का दोस्त अब मेरे बूब्स देख रहा था यह सोचकर मुझे बहुत अजीब लगा.. मेरे लिए मेरा भाई बच्चो जैसा है और मुझे उसके दोस्त भी बच्चे ही लगते थे भले ही वो ज्यादा उम्र का हो. हम दोनों में 4 साल का अंतर है और मैंने कभी भी मुझसे कम उम्र वालों की तरफ उस नज़र से नहीं देखा था. फिर में बहुत शांत हो गयी और मैंने पढ़ते पढ़ते फिर से विपिन की तरफ देखा.. वो भी मेरी तरफ देखने लगा और हम दोनों एक दूसरे की आँखो में बिना कुछ कहे घूर रहे थे. वो भी बिना किसी के डर के मेरी आँखों में बिना नज़र हटाए देख रहा था और मेरी धड़कने बहुत तेज़ हो गयी और मुझे यह अहसास जाना पहचाना सा लग रहा था. तो मैंने अपनी नज़रे उसकी तरफ से हटाई और में किताब में देखने लगी. तभी मैंने विपिन की तरफ फिर से देखा तो वो मेरे शरीर को पूरी तरह से देख रहा था और उसने अपनी नशीली आँखों से मेरी तरफ देखा. तभी मुझे उसकी पेंट में उसके खड़े लंड का आकार दिखाई दिया और मेरी गरम चूत से खुद ब खुद पानी निकलने लगा और अब मुझे पता चल गया कि मुझे क्या अहसास हो रहा था? तभी में जल्दी से उठकर अपने रूम की तरफ चली गयी और विपिन भी जल्द से उठकर बैठ गया और मुझे अपने रूम में जाते वक़्त बड़े ध्यान से देखने लगा. फिर मैंने रूम में अंदर घुसते वक़्त सोफे पर बैठे हुए उसकी तरफ देखा और हम 5 सेकिण्ड तक एक दूसरे को ऐसे ही घूरते रहे और में अंदर चली गयी और फिर मैंने दरवाज़ा बंद कर दिया. फिर मैंने अपने कपड़े उतार कर फेंक दिए और अपने आप को सहलाने लगी. मैंने अपनी चूत में ऊँगली डालनी शुरू कर दी.. लेकिन यह बहुत ग़लत था और मुझे उस लड़के की वजह से गर्माहट महसूस हो रही थी.. में पूरी तरह गरम हो चुकी थी. मेरी चूत अब मुझसे एक लंड मांग रही थी और मेरा अपने आप पर कोई वश नहीं था. वो दूसरे रूम में था और में अपने कमरे में नंगी होकर अपनी चूत को सहलाकर ठंडा करने की कोशिश कर रही थी. तभी मुझे दरवाज़े के नीचे वाले हिस्से से दिखाई दिया कि दरवाज़े के बाहर कोई खड़ा है और में समझ गयी कि यह विपिन ही है. तो में ज़मीन पर लेट गयी और खुद को सहलाने लगी और विपिन भी ज़मीन पर झुककर दरवाज़े के नीचे के हिस्से से अंदर देख रहा था. में उसके सामने ही उसे अपनी चूत दिखाते हुए नीचे ज़मीन पर लेटी थी. तभी डोर बेल बजी तो में जल्दी से उठी और कपड़े पहनकर बाहर गयी तो मैंने देखा कि हॉल में उसकी किताब सोफे पर पड़ी थी.. लेकिन विपिन वहां पर नहीं था. फिर वापस से एक बार और डोर बेल बजी और मैंने दरवाज़ा खोला तो वॉचमेन था और वो लाईट का बिल देने आया था. फिर मैंने उससे बिल लिया और जल्दी से दरवाज़ा बंद कर दिया और विपिन को ढूँढने लगी और फिर मुझे हॉल में एक अंडरवियर ज़मीन पर पड़ी हुई मिली और मैंने अंडरवियर उठाई और उसे ढूँढने लगी. मैंने उसे बाथरूम में देखा तो वो वहाँ पर भी नहीं था और फिर में मेरे भाई के बेडरूम में गयी तो वो वहाँ पर चुपचाप खिड़की की तरफ खड़ा था. तभी मैंने उससे पूछा कि यहाँ पर क्या कर रहे हो? तो वो कुछ नहीं बोला और फिर थोड़ी देर मुझे घूरने के बाद बोला कि मुझे बहुत डर लगा कि कोई आ गया है तो में यहाँ पर आकर छुप गया. फिर मैंने उससे पूछा कि क्या यह तेरी अंडरवियर है? तो उसने कहा कि हाँ. फिर मैंने उससे पूछा कि इसे क्यों निकाली थी? तो उसने फिर से नशीली आँखों से घूरते हुए कहा कि ऐसे ही. तो मैंने उससे पूछा कि सीधे सीधे बता क्यों निकाली थी? लेकिन वो कुछ नहीं बोला. तो मैंने कहा कि तू जब तक नहीं बताएगा.. में तब तक तुझे तेरी अंडरवियर नहीं दूँगी. फिर मैंने उसकी अंडरवियर ली और हॉल में चली गयी और सोफे पर जाकर बैठ गयी. तो मुझे पता चल गया कि वो शायद पहले नंगा हुआ होगा और बेल बजने पर जल्दी जल्दी में कपड़े लेकर रूम में भाग गया होगा.. लेकिन में जानना चाहती थी कि वो नंगा हो कर क्या करने वाला था? और वो बहुत देर तक उस रूम से बाहर नहीं निकला. तो में फिर से अपने भाई के रूम में देखने गयी तो वो बेड पर नंगा बैठकर अपना लंड हिला रहा था. तभी उसने मुझे देखा तो उसकी आँखों में बिल्कुल भी डर नहीं था.. किसी और के घर में अपने फ्रेंड की बड़ी बहन के सामने नंगा होकर लंड हिलाने की बात पर उसे कोई भी डर या शरम नहीं थी.. बल्कि वो मुझे अपनी नशीली आँखों से घूर घूरकर देखता रहा. उसका लंड बहुत बड़ा था.. करीब 6 इंच लंबा और 2 इंच मोटा और वो एकदम तनकर खड़ा था.. शायद वो मेरी चूत को सलामी दे रहा था. मुझे अपने से छोटी उम्र के लड़के के खड़े लंड को देखकर अलग सा अहसास हुआ और में इतना खूबसूरत लंड देखकर चौंक गयी थी.. लेकिन उम्र में बड़ी होने की वजह से कुछ भी नहीं बोली. में उसे डांटने का नाटक तक करना चाहती थी.. लेकिन कुछ बोल ना सकी और में चुपचाप हॉल में चली गयी और किताब पढ़ने का नाटक करने लगी. फिर मुझे कुछ भी समझ नहीं आ रहा था कि में क्या करूं? और अब मेरी चूत गीली हो चुकी थी और में अभी भी यही सोच रही थी कि क्या यह सब ग़लत तो नहीं हो रहा? और वो लड़का मुझसे छोटा है. तभी विपिन वैसे ही नंगा मेरी तरफ हॉल में आया और मेरे सामने आकर खड़ा हो गया और अपने लंड को जोर जोर से हिलाने लगा. तो में उसे वहाँ से भगाना चाहती थी या भगाने का नाटक करना चाहती थी.. लेकिन वो भी मुझसे नहीं होने वाला था. फिर मेरी चूत भी लंड की प्यासी हो गयी थी और मेरा मुहं भी लंड के लिए सूख गया था और लंड लिए मेरे पूरे बदन में बिजली दौड़ रही थी.. में फिर भी किताब में ही देखती रही. तभी विपिन ने मेरे हाथ से किताब छीनकर फेंक दी और मेरी तरफ देखने लगा. फिर मैंने उसकी तरफ देखा तो उसने मुझे किस का इशारा किया और जोर से अपना लंड हिलाता रहा और में उसके लंड को 1 मिनट तक देखती रही और निहारती रही.. मुझे अब उसके लंड पर टूट पढ़ना था.. लेकिन वो मेरे भाई का फ्रेंड था और वो मेरे भाई को ब्लॅकमेल भी कर सकता था और मुझे भी ब्लॅकमेल कर सकता था.. इसलिए में अभी भी कुछ नहीं कर रही थी.. लेकिन मेरा पूरा शरीर कुछ और ही बोल रहा था और मन कुछ और.. तो मैंने धीमी आवाज़ में कहा कि अब बंद भी कर यार. तो उसने मुझसे कहा कि लो ना.. में चुप बैठी रही और वो मेरे मुहं की तरफ लंड को करीब लाया और मुझे उसके लंड की खुश्बू आने लगी.. में झुकी हुई थी और माथे पर हाथ था और उसका लंड मेरे होंठो से सिर्फ़ थोड़ी ही दूरी पर था और अगर वो हल्का सा भी आगे आता तो मेरे होंठो को उसका लंड छू जाता. मैंने वापस लंड की तरफ देखा और उसकी तरफ देखा.. तो वो मेरे पास में आकर सोफे पर लेटकर लंड को हिलाने लगा. हम एक दूसरे की आँखों में देख रहे थे और वो ज़ोर ज़ोर से लंड को हिलाने लगा. फिर आखिरकार उसका वीर्य गिर ही गया और उसका बहुत सारा वीर्य निकला और में उसके लंड की तरफ ही देखती जा रही थी. वो दो मिनट ऐसा ही पड़ा रहा और फिर बाथरूम में जाकर लंड धोकर बाहर आया और वो मेरे पास में आकर नंगा थककर बैठा हुआ था. मैंने उससे पूछा कि यह क्या था? तो उसने कहा कि तुझे देखकर जोश चड़ गया था. वो मेरे सामने अपने बड़े लंड को लेकर हिला रहा था.. फिर वीर्य को गिराया और अब मेरे पास में बिना किसी शर्म के नंगा बैठकर मुझसे बातें कर रहा है. तो हम कुछ देर तक ऐसे ही शांत बैठे रहे. तभी उसने सोफे पर लेटते हुए मेरी गोदी में सर रखा.. लेकिन में चुप रही और उसने फिर अपनी उंगली से मेरे निप्पल को छुना शुरू किया और मुझे उसका ऐसा करना बहुत अच्छा लग रहा था.. में बस चुप रही. फिर वो ऐसा कुछ देर तक करता रहा और जब में कुछ नहीं बोली तो उसने धीरे धीरे मेरे बूब्स को दबाना शुरू किया. अब जब में बिल्कुल शांत रही तो उसने सीधा टीशर्ट के ऊपर से ही निप्पल को काटना शुरू किया और वो टी-शर्ट के ऊपर से ही निप्पल को दांत से खींच रहा था.. लेकिन मेरा शरीर शांत था. में कुछ नहीं सोच रही थी.. बस जो होगा वो होने दे रही थी. फिर उसने नीचे से मेरी टी-शर्ट को थोड़ा ऊपर किया और मेरे नंगे बूब्स को चूमने लगा, काटने लगा और सहलाने लगा. फिर उसने मुझसे टी-शर्ट को उतरवाया और मेरी गोद में ही सर रखकर वो यह सब कर रहा था.. मेरी नाभि को भी चाट रहा था. जब उसने मेरी नाभि में जीभ डाली तब मेरे मुहं से सिसकियाँ निकली. फिर वो उठ गया और मेरी चूत को मेरी जिन्स के ऊपर से ही चाटने लगा.. उसने मेरी जिन्स उतरवाई और पेंटी भी उतरवाई और चूत चाटने लगा. फिर वो चूत चाटते चाटते एकदम रुककर मेरी चूत को बहुत देर तक देखता रहता.. जैसे कि उसने पहली बार चूत को देखा हो. फिर में भी उसका साथ देने लगी और उसने जब मेरी चूत में जीभ डाली तो मैंने अपने पैर उसके सर के आस पास लपेट लिए और ज़ोर ज़ोर से आह्ह्ह्ह उफ्फ्फ माँ करने लगी. फिर उसने मुझे लेटा लिया और खुद भी मुझ पर लेट गया और किस करने लगा.. फिर वो अपने घुटनो पर खड़ा हुआ और मुझे बैठा दिया. हम दोनों एक दूसरी की आँखों में देख रहे थे और वो अपना लंड मेरे होंठो पर छूने लगा और रगड़ने लगा. फिर मैंने मुहं खोला और उसका लंड पूरी तरह से अंदर लिया और बहुत देर तक चूसा.. चूसते वक़्त वो बहुत सेक्सी आहें भरने लगा और मुझे उसकी आहें सुनने में बहुत मज़ा आ रहा था.. वो आहह आहह करते हुए मेरे मुहं की चुदाई करने लगा. तभी अचानक से मेरे मुहं से लंड बाहर निकालकर मुझे किस करने लगा और लेटकर मेरे पैर फैलाकर अपना लंड मेरी चूत में डालने लगा.. लेकिन उसे डालते वक़्त थोड़ा दर्द होने लगा. तो मैंने उससे कहा कि लंड पर थोड़ा थूक लगा लो.. फिर उसने वही किया और मेरे पैरों के बीच में लेटकर मुझे चोदने लगा. वो चुदाई करते करते मुझे किस करता रहा. फिर 5 मिनट के बाद ही उसने वीर्य मेरी चूत के अंदर ही गिरा दिया और मुझ पर वो वैसे ही पड़ा रहा.. लेकिन मेरी चुदाई अभी पूरी नहीं हुई थी. फिर उसने मुझे कुछ देर तक किस किया और बैठ गया.. में लेटी रही और उसे देखती रही. वो वापस मेरी तरफ आया और मेरे निप्पल को चूसने लगा और 5 मिनट तक बूब्स के साथ खेलता रहा.. हम उठे और एक दूसरे से लिपटकर बैठे रहे. फिर मैंने उससे पूछा कि यह सब कैसे सीखा? तो उसने बताया कि उसकी कोचिंग टीचर के साथ भी उसने एक बार सेक्स किया है. उसकी कोचिंग टीचर दो बच्चों की माँ है और वो 40 से भी ज़्यादा उम्र वाली है. फिर मैंने उससे कहा कि क्या ऐसे किसी के सामने सीधे नंगे होते वक़्त तुम्हे डर नहीं लगता? तो उसने कहा कि उसे उस वक्त सेक्स का जोश बहुत चड़ गया था. फिर उस दिन के बाद हमने करीब 10 बार सेक्स किया है.. वो अब चुदाई में और भी बेहतर होता जा रहा था.. वो करीब 15-20 मिनट तक 2-2 बार चोदता है और उसको हमेशा अलग अलग स्टाईल में वीर्य गिराने में बहुत मज़ा आता है. में कभी उसे खुद नहीं बुलाती.. वो खुद सीधा घर पर किसी ना किसी बहाने से पहुंच जाता है और घर खाली होता तो घर पर सेक्स करते है या छत पर, सीढ़ियों पर, स्कूल के पेपर के दिनों में भी उसने मुझे बहुत बार चोदा है ..

0/Post a Comment/Comments

Footer Content

73745675015091643

pinterest